आइये आज कुछ important formula के बारे मे study करते है

 

आइये आज कुछ important formula के बारे मे study करते है 






                             बेलन





    बेलन के  वक्र पृष्ठ का क्षेत्रफल -- --- 2πrh

   बेलन के सम्पूर्ण पृष्ठ का क्षेत्रफल --- 2πr( r+ h )

    बेलन का आयतन ---- πr²h




                         आयत





प्रत्येक कोण समकोण ( 90 ) होता है ।


सम्मुख भुजये बराबर एवं समांतर होती है ।

आयत का परिमाप = 2(a+b)

आयत का क्षेत्रफल = a.b 

आयत का विकार्ण = √a²+b²




                     वर्ग 






भुजा = a 

चारो भुजाएं बराबर एवं समांतर होती है 

प्रत्येक कोण समकोण (90) होता है 

वर्ग का परिमाप =4a 

वर्ग का क्षेत्रफल =a²

वर्ग का विकर्ण = a√2



                           घन 








    घन के तीनो जोड़ी समान्तर सतहे होती है 

    सभी सतहे वर्गाकार होती है 

    इसमें 6 फलक होती है 

    घन का विकार्ण = 3√a

    घन के सम्पूर्ण पृष्ठीय क्षेत्रफल = 6a²

   पर्श्व पृष्ठीय क्षेत्रफल = 4a²

   घन का आयतन  = a³



                         घनाभ 





    घनाभ मे 8 शीर्ष ,12 कोर होती है 

    घनाभ मे 6 सतहे और 4 विकर्ण होती है 

    सभी सतहे आयताकार होती है 

    4 विकर्ण। बराबर होती है 

    घनाभ का विकर्ण = √( a²+ b²+c²) 

    घनाभ का पृष्ठीय क्षेत्रफल = 2( ab + bc + ca ) 

    घनाभ के उदाहरण --- ईट , माचिस की डिब्बा


            सम्बाहु त्रिभुज 





     इनके तीनो भुजये बराबर होती है 

       सम्बाहु त्रिभुज के परिमाप =3a

     सम्बाहु त्रिभुज के क्षेत्रफल = 1/2(ah)



                   समद्विबहु त्रिभुज 





    समद्विबहु त्रिभुज के दो भुजये सामान लम्बाई मे होती है 

   समद्विबहु त्रिभुज के परिमाप = 2a+b 

    समद्विबहु त्रिभुज के क्षेत्रफल = 1/2(a²)

   समद्विबहु त्रिभुज के विकर्ण = a√2


 

समकोण त्रिभुज 




समकोण त्रिभुज 

समकोण त्रिभुज का परिमाप = a+b+c

   समकोण त्रिभुज के क्षेत्रफल = 1/2(ab)


  समकोण त्रिभुज  मे विकार्ण का वर्ग , अन्य शेष दो भुजाओं के वर्ग  के योग के बराबर होता है 

अर्थात् 

            c²=a²+b²


                विषमबाहु त्रिभुज 







     विषमबाहु त्रिभुज के परिमाप् = a+b+c 

    विषमबाहु त्रिभुज अर्ध्दपरिमाप = ( a+b+c )/2

    विषमबाहु त्रिभुज के क्षेत्रफल = √{ s (s-a)(s-b)(s-c) }



                      वृत्त 







     वृत्त की सबसे लम्बी जीवा को व्यास कहते है 

    वृत्त की व्यास = 2त्रिज्या(r) 

   वृत्त की परिधि = 2πr 

   वृत्त की क्षेत्रफल = πr²










Post a Comment

Previous Post Next Post