DGP क्या होता है ? पूरी जानकारी के लिए link open किजिये और जानकरी प्राप्त करें >>>>

 

DGP क्या होता है ? पूरी जानकारी के लिए link open किजिये और जानकरी प्राप्त करें >>>>





डीजीपी (DGP ) क्या होता है ? :-

                                       DGP का फुल अंग्रेजी में फॉर्म 'Director General Of Police' होता है, इसका उच्चारण 'डायरेक्टर जनरल ऑफ़ पुलिस है। डीजीपी (DGP) को हिंदी में पुलिस महानिदेशक' कहते है। यह किसी भी राज्य का सबसे बड़ा पुलिस विभाग का अधिकारी होता है जिसका चुनाव भारतीय पुलिस सेवा यानि आईपीएस (IPS) की परीक्षा द्वारा किया जाता है, गैर आईपीएस इस पद पर नियुक्त नहीं किया जा सकता। राज्य में इसे कैबिनेट मंत्री के बराबर का दर्जा प्राप्त होता है। डीजीपी (DGP) बनना कोई आसान कार्य नहीं होता है, इस पद को प्राप्त करने के लिए कठिन मेहनत और कठिन परीक्षाओं से गुजरने के बाद ही इस पद की प्राप्ति होती है | यह पद पुलिस विभाग के सर्वोच्चतम पदों में एक होता है, जिसे प्राप्त करने के लिए आईपीएस (IPS) की परीक्षा से गुजरना जरूरी होता है |


डीजीपी (DGP) से सम्बंधित जानकारी :- 


डीजीपी (DGP) का पद पुलिस विभाग का एक बहुत बड़ा पद होता है, यह पद केवल एक आईपीएस (IPS) किया हुआ व्यक्ति ही इस पद के लिए योग्य होता है | इसलिए यह पुलिस विभाग में एक सम्मानित पद है | एक डीजीपी (DGP) को अपने क्षेत्र में बहुत से अधिकार प्राप्त होते है, वह अपने अधिकारों का प्रयोग करके, अपने क्षेत्र की कानून व्यवस्था को देखता है | डीजीपी (DGP) को हिंदी में पुलिस महानिदेशक कहा जाता है | पुलिस विभाग का यह अंतिम और शीर्ष पद होता है, इस विभाग में डीजीपी (DGP) से बड़ा कोई पद नहीं होता है । प्रत्येक राज्य में केवल 1 या सबसे अधिक 4 ऐसे पद होते है | सभी डीजीपी (DGP) भारतीय पुलिस सेवा (आईपीएस) के अधिकारी हैं। यदि आप भी पुलिस विभाग में डीजीपी (DGP) पद पर नौकरी करना चाहते है तो यहां पर DGP क्या होता है, डीजीपी कैसे बने, डीजीपी की सैलरी, DGP की योग्यता, डीजीपी का फुल फॉर्म क्या होता है DGP के कार्य क्या होते है इसके बारे में जानकारी दी जा रही है |


डीजीपी (DGP) के लिए परीक्षा :-


डीजीपी (DGP) बनने के लिए आपको UPSC यानि की संघ लोक सेवा आयोग द्वारा आयोजित कराई जाने वाली Civil Services की परीक्षा में भाग लेना होता है यदि आप इस परीक्षा में पास हो जाते है तो आप IPS अधिकारी बन जाते है और फिर प्रमोशन के बाद आप डीजीपी (DGP) यानि की पुलिस महानिदेशक पद पर पहुँच सकेंगे ।


डीजीपी (DGP) की योग्यता :-


डीजीपी (DGP) की डीजीपी (DGP) की योग्यता UPSC यानि की संघ लोक सेवा आयोग के एग्जाम देने के लिए अभ्यर्थी को कम से कम ग्रेजुएट पास होना जरूरी होता है, यदि आपकी शैक्षिक योग्यता कम है तो आप इस पद के लिए आवेदन नहीं कर पाएंगे |


डीजीपी (DGP) के लिए आयु सीमा :-


डीजीपी (DGP) पद की परीक्षा के लिए आयु सीमा 21 वर्ष से 32 वर्ष तक निर्धारित की गई है | आरक्षित वर्ग को नियमानुसार छूट प्रदान की जाती है |


डीजीपी (DGP) के कार्य :-


• डीजीपी (DGP) का मुख्य रूप से कार्य, जिस राज्य में तैनाती होती है, उस राज्य में शांति व्यवस्था बनाये रखना होता है |


• प्रदेश के सभी जिलों में कानून व्यवस्था को

नियंत्रण में रखना होता है |


• राज्य सरकार के साथ प्रदेश में मिलकर, राज्य के कार्यों को आगे बढ़ाना होता है |


• राज्य के पूरे पुलिस डिपार्टमेंट को अपने नियंत्रण में रखने के साथ साथ, पुलिस कर्मियों का जिलेवार प्रबंधन करने की जिम्मेदारी डीजीपी (DGP) के अनुसार किया जाता है ।






Post a Comment

Previous Post Next Post